नैतिक कहानियाँ हिंदी में l Moral stories in hindi 2021

इस लेख में हम आपको Moral stories in hindi में के बारे में बताने वाले है। इन कहानियों को आपने बचपन में अपने दादा दादी से सुना होगा। यह बहुत ही ज्ञानवर्धक और शिक्षाप्रद है।

इन नैतिक कहानियों से आप बहुत सारी अच्छी बात सीखेंगे। जिनको आप अपनी जिंदगी में प्रयोग करके सफलता पा सकते हैं। यह बहुत ही रोमांचक है। जिनको पढ़कर आपको बहुत आनंद मिलेगा।

इनमे कुछ नई नैतिक लघु कहानियाँ हिंदी में 2021 दी गयी है। जिससे आपको नयापन का अनुभव हो। यदि आप पुरानी कहानियों को पढ़ कर बोर हो गए हैं तो। यहाँ पर हम आपको सबसे अच्छी मोरल कहानियाँ हिंदी में बच्चों के लिए दे रहे है।

 

1.पैतृक धन

एक बार की बात है कृष्णदेव राजा के दरबार में एक व्यक्ति आया। उस व्यक्ति के हाथ में एक लोहे का बक्सा था। जिसमे ताला लगा हुआ था। वह राजा से बोला की इस बक्से में मेरे पूर्वजो की धन सम्पति है।

आप इसको अपने पास रख लो जिससे की मै उत्तर भारत के सभी मंदिरों में दर्शन के लिए जा सकूँ। राजा ने उस व्यक्ति की बात को मान लिया। इसके बाद वह व्यक्ति वहाँ से चला गया।

Moral stories in hindi

राजा ने अपने सेनिको से कहा की इस बक्से को राज खजाने में रख दो। इस पर एक मंत्री बोला की महाराज राज खजाने में तो केवल शाही खजाना ही होना चाहिए। आप इसको अपने प्रिय सलाहकार तेनाली राम को दे दीजिये।

राजा ने मंत्री की बात को मानकर बक्से को तेनाली राम को रखने के लिए दे दिया। जब तक वह व्यक्ति लौट कर नहीं आता। तेनाली राम ने बक्सा ले जाकर अपने घर में रख दिया। 6 महीने के बाद वह व्यक्ति लौट आया और राजा से अपना बक्सा मांगने लगा।

राजा ने तेनाली राम को बक्सा लाकर व्यक्ति को देने को बोला। जब तेनाली बक्सा लाने घर गया तो उसने देखा की बक्से का वजन पहले से कम हो चूका था।

Moral stories in hindi

उसको पता चल गया था की व्यक्ति बेवकूफ बना रहा है। इसके बाद वह खाली हाथ ही दरबार में गया और उस व्यक्ति से बोला की मै तुम्हारा बक्सा नहीं ला सकता क्योंकि तुम्हारे पूर्वज हमारे घर आ रखे है।

उस व्यक्ति ने राजा को कहा की तेनाली राम झूठ बोल रहा है यह मेरे खजाने का बक्सा नहीं देना चाहता। तेनाली राम ने राजा से भी वहीं बात कहीं। इसके बाद राजा बोले की हम सब तुम्हारे घर जायेंगे।

यदि तुम्हारे घर में इसके पूर्वज नहीं मिले तो तुमको सजा मिलेगी। तेनाली राम इसके लिए मान गया। इसके बाद सभी तेनाली राम के घर गए। वहाँ जाकर सबने देखा की बक्से के अंदर चीटियाँ जा रही थी।

Moral stories in hindi

राजा ने बक्से को खोलने का आदेश दिया। जब बक्से को खोला गया तो उसमे चीनी भरी हुई थी। राजा ने उस व्यक्ति को कहा की तुमने हमको बेवकूफ बनाने की कोशिश की।

Moral stories in hindi

वह व्यक्ति बोला की यह उसने एक मंत्री के कहने पर किया है जो तेनाली राम को फसा कर सजा दिलाना चाहता था। राजा ने उस व्यक्ति और मंत्री दोनों को जेल में डाल दिया। राजा ने तेनाली से पूछा तुमको यह कैसे पता लगा की बक्से में खजाना नहीं है।

तेनाली राम ने कहा की मै जब भी कभी देखता था तो उस बक्से के आसपास चीटियां ही नज़र आती थी। अगर उसमे खजाना होता तो वहाँ चीटियाँ नज़र नहीं आती। इसलिए मैंने चीटियों को उसके पूर्वज कहा। राजा ने तेनाली की बुद्धिमानी की तारीफ की।

Moral stories in hindi

2.तीन छोटे सूअर

एक बार की बात है एक बूढ़ी माँ सुअर थी जिसके पास तीन छोटे सुअर थे और उन्हें खिलाने के लिए पर्याप्त भोजन नहीं था। इसलिए जब वे काफी बूढ़े हो गए, तो उन्होंने अपनी किस्मत की तलाश के लिए उन्हें दुनिया में भेज दिया।

पहला छोटा सुअर बहुत आलसी था। वह बिल्कुल भी काम नहीं करना चाहता था और उसने अपने घर को भूसे से बाहर बनाया। दूसरे छोटे सूअर ने थोड़ी मेहनत की लेकिन वह कुछ आलसी भी था और उसने अपना घर लाठी से बनाया। फिर, वे गाते और नाचते थे और बाकी दिन साथ-साथ खेलते थे l

Moral stories in hindi

तो उसने हामी भर दी और वह फफक पड़ा और उसने घर को उड़ा दिया! भेड़िये ने अपने जबड़े बहुत चौड़े और नीचे की तरफ खोल दिए, जितना वह कर सकता था, लेकिन पहला छोटा सुअर बच गया और दूसरा छोटा सुअर लेकर छिप गया।

भेड़िया ने नीचे लेन जारी रखी और वह लाठी से बने दूसरे घर से गुजरा; और उसने घर को देखा, और उसने सूअरों को अंदर सूँघ लिया, और उसके मुंह में पानी आने लगा, जैसा कि वह बढ़िया रात के खाने के बारे में सोचता था।

Moral stories in hindi

तो उसने हामी भर दी और वह फफक पड़ा और उसने घर को उड़ा दिया! भेड़िया लालची था और उसने एक बार में दोनों सूअरों को पकड़ने की कोशिश की, लेकिन वह बहुत लालची था और न ही मिला! उसके बड़े जबड़े हवा पर कुछ नहीं टिकते थे और दो छोटे सूअर उतनी ही तेजी से दूर भागते थे जितना कि उनके छोटे खुर उन्हें ले जाते थे।

Moral stories in hindi

भेड़िये ने उनका पीछा किया और उन्हें लगभग पकड़ लिया। लेकिन उन्होंने इसे ईंट के घर में बना दिया और भेड़िया को पकड़ने से पहले दरवाजा बंद कर दिया। तीन छोटे सूअर वे बहुत भयभीत थे, उन्हें पता था कि भेड़िया उन्हें खाना चाहता है।

और यह बहुत ही सच था। भेड़िया पूरे दिन नहीं खाया था और उसने सूअरों का पीछा करते हुए एक बड़ी भूख को काम किया था और अब वह उन तीनों को अंदर सूंघ सकता था और वह जानता था कि तीन छोटे सूअर एक प्यारी सी दावत देंगे।

 

दोस्तों अगर आपको Moral stories in hindi  पसंद आया हो तो please इसे अपने दोस्तों के साथ share करें और Comment जरूर करें।

वेल्वीन रैबिट l The Velveteen Rabbit in hindi 2021

3 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *