Depression treatment in hindi 2021 | Best Depression Treatment in Ayurvedaअवसाद रोग क्या है?

Depression treatment in hindi

Depression Treatment  in Hindi  दोस्तों क्या आप जानते हैं कि अगर आप Depression का शिकार हैं तो विज्ञान कहता कि  Treatment आपका दिमाग खुद ऐसी समस्या भी बना सकता है  Ayurveda जो आपके जीवन में है ही नहीं!!

आज अधिकतर लोगों में अवसाद यानी डिप्रेशन की समस्या देखने को मिलती है। डिप्रेशन मस्तिष्क से संबंधित एक रोग है। कोई भी व्यक्ति जब उदासी, लाचारी, अपराध और निराशा की भावनाओं के साथ घिर जाता है, तब उसे उदासी महसूस होती है। इससे मनोदशा में स्वाभाविक रूप से परिवर्तन होता है।

इससे दिमाग की शारीरिक और मानसिक स्थिति प्रभावित होती है। आमतौर पर डिप्रेशन से घिरे लोग चिड़चिड़े हो जाते हैं। उन्हें अकेले रहना अधिक पसंद होता है।

कुछ लोगों को किसी विशेष मौसम (मौसमी अवसाद) में अवसाद महसूस होता है, जबकि कुछ लोगों को उनके जीवन में घटी किसी दुर्घटना के बाद अवसाद होता है। हालांकि, इसका सही समय पर इलाज न करवाया जाए, तो व्यक्ति के जिंदगी भी पूरी तरह से बर्बाद हो सकती है। कई केसेज में व्यक्ति आत्महत्या का भी प्रयास करता है। डॉक्टर से दिखाने के साथ-साथ आप इसका इलाज आयुर्वेदिक तरीके से भी कर सकते हैं।

Depression treatment in hindi

दोस्तों इस बात से आपको अंदाज़ा हो गया होगा कि Depression कितनी बड़ी समस्या है, लगभग 80 प्रतिशत लोग इस बीमारी से जूझ रहे हैं, और ख़ास बात यह है कि इस बीमारी के उपचार को उतना महत्व नहीं मिलता जितना मिलना चाहिए।

तो दोस्तों आज हम आपके लिए लेके आये हैं  (Brahmi Beneficial in Depression in Hindi), आज मैं आपको इस बीमारी का आयुर्वेद में उपचार बताने वाला हूँ|

पर आयुर्वेद ही क्यूँ ?,क्या आयुर्वेद depression के लिए असरदार उपचार है ?, ऐसे कई सवालों मैं आज आपको उत्तर इस पोस्ट में देने वाला हूँ, इसलिए पूरा पढ़े।Depression Treatment in Ayurveda in Hindi

What Are Depression Treatment In Ayurveda In Hindi?{List}

दोस्तों मैंने इस भाग को तीन हिस्सों में बांटा है जो कि हैं —

  • Depression के लिए आयुर्वेदिक जड़ी-बुटियां
  • Depression के लिए कुछ आयुर्वेदिक औषधियां
  • Depression कम करने के योग और प्राणायाम

Depression के लिए आयुर्वेदिक जड़ी-बुटियां| Depression Ki Ayurvedic Dawa

depression treatment

1- अश्वगंधा (Ashvagandha)

  • दोस्तों अश्वगंधा एक ऐसी जड़ी-बूटी है तो शरीर से नकारात्मक विचारों को दूर करके मन में सकारात्मक ऊर्जा का विस्तार कर देती है।
  • अश्वगंधा के पौधे में ऐसे केमिकल होते हैं जो दिमाग की नसों को नुकसान से पहुंचने से बचते हैं और तनाव को कम कर देते हैं।
  • अश्वगंधा काढ़े या पाउडर के रूप में भी ले सकते हैं, बाजार में कई तरह के अश्वगंधा आते हैं जिन्हे आप डॉक्टर के परामर्श के बाद ले सकते हैं।

2- ब्राह्मी (Brahmi)

  • ब्राह्मी रक्त को साफ़ करने के लिए बहुत उपयोगी है, ब्राह्मी मष्तिस्क को ऊर्जा देने का काम करता है, ये दिमाग की शक्ति भी बढ़ाता है और concentrate करने में मदद भी करता है ।
  • इन्ही कारणों की वजह से ऐसे लोग जो मानसिक और भावनात्मक Depression से गुज़र रहे हैं उनके लिए ये बहुत कारगर है।
  • ब्राह्मी का सेवन आप तेल, काढ़े, और पाउडर के रूप में डॉक्टर के परामर्श के बाद कर सकते हैं।

3- मुलेठी (Mulethi)

  • मुलेठी को आयुर्वेद में दिमाग को पोषण देने वाला और मन को शांत करने वाला मन जाता है।
  • ये दिल के लिए एक उत्तम टॉनिक है, यह रक्त संचार में सुधार करता है।
  • मुलेठी को तेल, पाउडर के रूप में सेवन कर सकते है|

4- चन्दन (Chandan)

  • दोस्तों अपने देखा होगा कि कई लोग अपने माथे के बीच में चन्दन का तिलक करते हैं,क्यूंकि चन्दन दिमाग को ठंडा रखता है।
  • ये ध्यान लगाने और मन को शांत करने में मदद करता है, इसलिए जो लोग अवसाद से जूझ रहे हैं उनके यह काफी उपयोगी है।

5- शतावरी (Shatavari)

  • शतावरी को भी एक टॉनिक के रूप में लिया जाता है, ये भी शरीर का पोषण बढ़ाने में मदद करती है, मन में शांति की भावना बढ़ती है।
  • शतावरी को पाउडर और काढ़े में लिया जा सकता है।Depression Treatment in Ayurveda in Hindi

Depression के लिए कुछ आयुर्वेदिक औषधियां| अवसाद के लिए आयुर्वेदिक औषधियां

दोस्तों अब में आपको कुछ औषधियां बताने वाला हूँ जो की आप डॉक्टर के परामर्श के बाद ले सकते हैं।

सारस्वतारिष्ट (Sarswatarisht)

  • इस औषधि में कई जड़ी-बूटी मिली हुयी हैं, जैसे अदरक, सौंफ आदि।
  • यह औषधि ह्रदय को शक्ति देने का प्रयास करती है और यह रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाती है।
  • यह औषधि हर उम्र के लोगो के लिए कारगर है।

चंदनासव (Chandnasav)

  • इस औषधि में चन्दन के गुण होते है जिससे Depression से लड़ने में और मन को शांत करने में मदद मिलती है।
  • इसमें कमल, मंजिष्ठा, कंचनार आदि जड़ी बूटियां मिली हुयी रहती है।

Depression कम करने के लिए योग एवं प्राणायाम | The Benefits Of Yoga In Depression

The Benefits Of Yoga In Depression

योग और प्राणायाम depression से लिए एक कारगर समाधान हो सकते है, ये साबित हो चूका है कि जब आप ध्यान लगाते है तो आपका मन शांत रहता है और डिप्रेशन से लड़ने में मदद मिलती है, आज दोस्तों ऐसे ही कुछ प्राणायाम और योग लेके आया हूँ जिससे आपको अवसाद में मदद मिलेगी।

  • भुजंगासन-  इस आसन में सर्प की तरह फन फैलाने की मुद्रा होती है। इसको करने से डिप्रेशन को दूर करने में फायदा होता है। इसके अलावा यह शरी में ऊर्जा बढ़ता है और पीठ दर्द में भी फायदा करता है।
  • सेतुबंधासन-  इस आसन में शरीर को सेतु (bridge) की मुद्रा में बांध या रोक कर रखते हैं। इससे रीढ़ की हड्डी में लचीलापन आता है, जिससे कमर दर्द की समस्या से राहत मिलती है। इसके अलावा यह उदासी या अवसाद को दूर करता है।
  • सुखासन – सुखासन को करने से सुख और शांति मिलती है। इसी वजह से इसे सुखासन कहते हैं। सुखासन से ब्लड सर्कुलेशन यानि रक्त प्रवाह अच्छा रहता है। इस आसन को नियमित करने से मन उदास नहीं रहता है और अवसाद (Depression) में राहत मिलती है।

Meditation For Depression | Depression treatment  ध्यान से Depression कैसे काम करें ?

दोस्तों इन सबके अलावा Meditation या ध्यान लगाने का बहुत ज्यादा फायदा है, आप सुबह जल्दी उठ कर 10 मिनट का ध्यान लगाते है तो आपको डिप्रेशन से काफी राहत मिलेगी।

आपको बस एक शांत जगह पर जाना है, वहां आप बैठ कर अपनी आंखे बंद करे और अपने माथे (forehead) के बीच में ध्यान लगाने की कोशिश करें।

माथे के बीच में आपको थोड़ा दर्द का अनुभव होगा, इसका मतलब है की आप अच्छे से ध्यान लगा रहे हैं, आप चाहे तो इष्ट या भगवान का ध्यान भी कर सकते हैं।

शुरुआत में ध्यान लगाने में आपको कठिनाई होगी पर जैसे-जैसे आप ध्यान लगते जायेंगे वैसे-वैसे आपको इसकी आदत होती जाएगी।

जरूर पढ़े — clotrimazole Cream ip uses in hindi

तुलसी

तुलसी की पत्तियों में थोड़ी सी चीनी, दालचीनी और सूखे अदरक जड़ों के साथ गर्म पानी में डालकर मिश्रण तैयार करें। इसे एक दिन में 5 से 6 बार पिएं। इससे आपकी मनोदशा पर नियंत्रण रखने में मदद मिलेगी।

इलायची

सुबह जब आप चाय पिएं, तो इलायची डालकर पिएं। यह चाय अपको मानसिक रूप से शांति प्रदान करने में मदद करेगी।

अदरक

कुछ लोगों को इलायची पसंद नही होती है। ऐसे में आप अदरक का इस्तेमाल कर सकते हैं। चाय बनाएं, तो अदरक के टुकड़े डालकर अच्छी तरह से चाय को उबालें। अदरक के अवसाद विरोधी गुण आपको खुश करने में मदद करेंगे। जल्द राहत पाने के लिए अपने खाने में सूखी अदरक की जड़ का कुछ पाउडर मिलाएं।

काली मिर्च

काली मिर्च अवसाद के लिए उपचार में उपयोग की जाने वाली एक अन्य महत्वपूर्ण जड़ी बूटी है। यह अवसाद के मुख्य कारणों को दूर करता है।

ब्राह्मी

ब्राह्मी एक बहुत लोकप्रिय आयुर्वेदिक पौधा है, जिसमे दिमाग को शांत करने वाले गुण होते हैं। ब्राह्मी तेल का नियमित रूप से इस्तेमाल करने से दिमाग शांत रहता है।

हल्दी

हल्दी मौसमी अवसाद पर प्रभावी ढंग से उपचार करने में मदद करती है। यदि आपको मौसम में परिवर्तन के साथ उदास लगता है, तो गर्म दूध में चीनी और कुछ हल्दी डाल कर ले सकते हैं। इस उपचार का सकारात्मक प्रभाव महसूस करने के लिए इस मिश्रण को कम से कम एक सप्ताह तक लें।

योग- इन तमाम उपायों के अलावा आप नियमित रूप से योग करें। योग अवसाद को दूर करने के लिए बेहतर और आसान उपचार है। एक शोध में पाया गया है कि जो लोग प्राणायाम और योगासन नियमित रूप से करते हैं, वह अवसाद और निराशा की भावना के लिए कम संवेदनशील होते हैं। सुबह की सैर पर जाएं और फिर लाभ देखें।

क्या आयुर्वेद में अवसाद इलाज ढंग से हो सकता है ?

दोस्तों आप लोगो में से कई लोगो के मन में यह विचार आ रहा होगा कि क्या आयुर्वेद में depression ढंग से ठीक हो सकता है ?, क्या हमे अंग्रेजी या एलोपैथी पर निर्भर रहना चाहिए ?, तो दोस्तों मैं आपको इसका जवाब तीन तर्कों से देना चाहता हूँ।

  • पहला यह कि depression कोई एक या दो दिन की परेशानी नहीं है कि आप टेबलेट खाये और ठीक हो जाये अगर आपको इसे जड़ से मिटाना है तो आयुर्वेद बहुत सही रास्ता है।
  • दूसरा यह कि आयुर्वेद का सबसे बड़ा फायदा यह कि आपको इसका कोई side-effect नहीं होगा और न ही इसकी लत पड़ेगी।
  • आयुर्वेद प्राचीनतम इलाज पद्धति में से एक है, इस कारण depression जैसी बीमारी में यह कारगर काम करती है।

 

तो दोस्तों अगर आपको यह जानकारी पसंद आयी हो तो आपने दोस्तों और परिवार के बाद जरूर शेयर करें और कमेंट करे, हम ऐसे ही आर्टिकल लाते रहते हैं तो बने रहे हमारे साथ, धन्यवाद।

Disclaimer– दोस्तों ऊपर दी गयी सारी दवा, जड़ी-बूटी और औषधि डॉक्टर के परामर्श के बाद ही लें।

जरूर पढ़े –Valentines day images for whatsapp status 2021 – हिंदी की दुनियाँ (hindistoriesforkids.in)

जरूर पढ़े –Valentine day in hindi 2021 l Valentine day ku manya jaata hai – हिंदी की दुनियाँ (hindistoriesforkids.in)

जरूर पढ़े— Weight gain diet chart l वजन कैसे बढ़ाये 2021 – हिंदी की दुनियाँ (hindistoriesforkids.in)

जरूर पढ़े Short-sightedness in hindi 2021 – हिंदी की दुनियाँ (hindistoriesforkids.in)

जरूर पढ़े Meme ka matalb hindi 2021 – हिंदी की दुनियाँ (hindistoriesforkids.in)

जरूर पढ़े Til Hatane Ke Tarike in hindi 2021 ! – हिंदी की दुनियाँ (hindistoriesforkids.in)

जरूर पढ़े Cholera Illness In Hindi 2021 ! हैजा ठीक कैसे करे इन हिंदी – हिंदी की दुनियाँ (hindistoriesforkids.in)

जरूर पढ़े Tattoo Hatane Ke Tarike in hindi 2021 – हिंदी की दुनियाँ (hindistoriesforkids.in)

%d bloggers like this: